कार्रवाई कुढ़नी विधायक अनिल सहनी की विस सदस्यता खत्म

1 min read

पटना, हिन्दुस्तान ब्यूरो। मुजफ्फरपुर के कुढ़नी के राजद विधायक अनिल सहनी की विधानसभा की सदस्यता समाप्त हो गयी है। विधानसभा के प्रभारी सचिव पवन पांडेय ने शुक्रवार को उनकी सदस्यता समाप्त करने की अधिसूचना जारी की। दरअसल, पिछले माह 3 सितंबर को अनिल सहनी को सीबीआई कोर्ट (दिल्ली) ने एलटीसी घोटाले में तीन साल की सजा सुनाई थी। उनकी सदस्यता भी सजा के दिन से ही खत्म की गयी है।

सहनी 2010 से 2018 तक जदयू सांसद रहे। इसी अवधि में उनके ऊपर एलटीसी घोटाले का आरोप लगा। आरोप है कि सांसद रहते उन्होंने यात्रा किए बगैर ही जाली ई-टिकट और फर्जी बोर्डिंग पास के माध्यम से लाखों का फर्जीवाड़ा किया। सहनी जदयू से दो बार राज्यसभा सदस्य रहे। पहली बार वर्ष 2010 में उपचुनाव में सांसद बने और 2012 तक सदस्य रहे। वर्ष 2012 में दूसरी बार भी अवसर मिला और वे 2018 तक राज्यसभा सांसद रहे। सहनी 2020 में जदयू छोड़कर राजद में शामिल हो गए। राजद ने उन्हें कुढ़नी से उम्मीदवार बनाया और वे जीत गए। गौरतलब है कि सुप्रीम कोर्ट के आदेश के बाद जनप्रतिनिधित्व कानून में हुए संशोधन के मुताबिक अगर किसी सदन के सदस्य को कोर्ट से दो साल से अधिक की सजा होती है तो उनकी सदस्यता खत्म हो जाएगी। इसी आधार पर पिछले दिनों राजद विधायक अनंत सिंह की सदस्यता भी खत्म हुई थी